मंगलवार, फ़रवरी 21, 2012

दोहे


     

       बूढ़े है तो क्या हुआ, दिल तो  अभी   जवान  
        हसते हसते दिन कटे , जिंदगी वही महान   |


                              * * * * *                                                                                                                
          हम अस्सी के है भले , दिल है बागो बाग                            दिलवर  प्यारा जान से , यही हमारा भाग |  
                                                                       
   
* * * * *
                            
                    

2 टिप्‍पणियां:

  1. चित्र को परिभाषित करते सुंदर दोहे

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी पोस्ट चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    http://charchamanch.blogspot.com
    चर्चा मंच-805:चर्चाकार-दिलबाग विर्क>

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...